VPN KA FULL FORM IN HINDI (vpn का full form क्या है )

VPN KA FULL FORM IN HINDI (vpn का full form  क्या है )

VPN KA FULL FORM IN HINDI: Hello दोस्तों, हमारे Website Mumtaz Tech में आपका स्वागत है. बहुत सारे लोग अक्सर हम से पूछते है कि VPN क्या होता है। VPN का फुल फॉर्म क्या है, VPN का क्या फायदा है.

VPN को अपने लैपटॉप अपने स्मार्टफोन में किस तरीके से यूज कर सकते हैं, किस तरह आप किसी भी country के नेटवर्क को access कर के banned website को safely उसे access कर सकते है,

दोस्तों आज इस article में मैं इन सारे सवालो के जवाब देने वाला हूँ और आपके confusion को दूर करने वाला हु. आप से बस इतनी सी गुज़ारिश है के इस आर्टिकल को पूरा पढ़े. ताके आप को सही जानकारी मिल सके.

Vpn Ka Full Form in Hindi

VPN की फुल फॉर्म है वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (Virtual private network), यानी public network का उपयोग करते समय एक संरक्षित नेटवर्क कनेक्शन स्थापित करने का अवसर provide करता है। आप vpn की मदद से world के किसी भी country से किसी भी network और किसी भी block website को access कर सकते हैं.

Network क्या होता है 

अब हम आप को बताते है कि network क्या होता है तो for example आप के घर में आपने जो tradition लगवाएं हैं तो वहां पर आपके पास एक modem होगा एक Adapter होगा और इसके अलावा आप के घर में एक लैपटॉप लगा होगा। एक स्मार्ट टीवी और एक मोबाइल फोन भी होगा।

अगर आप अपने फोन से अपने टीवी में कुछ चीज भेज रहे हैं या फिर अपने फोन से अपने कंप्यूटर में कुछ wireless के through काम कर रहे हैं तो यहां एक network तो है लेकिन ये एक internal network है. बाहर दुनिया के इंटरनेट का कोई भी लिंक नहीं है.

लेकिन अगर आप internet पर कोई वेबसाइट access करते है तो वो वेबसाइट कही न कही data center पर save होता है. हो सकता है US में हो या France में, या India में. तो उसी जगह से आप वो website access कर पा रहे हैं.

अब आप ये समझये के इंटरनेट पर जितने भी डिवाइस है, जितने भी modems हैं जितने भी routers है websites हैं सभी को एक address के through access क्या जाता है. और उसी के यहां पर सारा काम हो पाता है।

अब यहां पर जो आपका IP Address है या फिर जो आपका इंटरनेट प्रोटोकॉल address है, वह जाता है उस सर्वर तक, वहां से आपके Address पर जवाब देता है कि हां ठीक है जो आपने Request Send की थी, वह आप के page सामने आ गया है।

VPN  के  Benefits 

अब यहाँ पर दोस्तों इसके कुछ फायदे भी हैं। कुछ नुकसान भी हैं। फायदा बड़ा ही simple है कि आप दोस्तों इस technique की मदद से internet use कर पाते है. और यही वह फंडा है जहां जो इंटरनेट complete मिलकर बना है,

  • अगर आप transaction करते हैं तो आप vpn की मदद से secure transaction कर सकते हैं. आप अपने local location और ip address के बिच vpn का use करके local location और ip address को hide कर सकते हैं.

  • Vpn की मदद से आप hacker जैसे लोगों से बच सकते हैं, क्यूंकि vpn use करते वक़्त आप का नेटवर्क प्राइवेट हो जाने की वजह से आप सेफ रहते हैं और hacker से बच जाते हैं.

  • अगर आप hacker हैं तो भी आप vpn का use कर सकते हैं और  अपना  ip  address  बदल  सकते  हैं, क्यूंकि  सारे  hacker vpn  का use करते  हैं.

  • आप जानते ही है के india में बहुत से वेब्सीटेस जैसे movies या उसके अलावा दुरसरि चीज़े websites, लेकिन  आप vpn के ज़रिये उन वेबसाइट को access  कर सकते हैं.

  • आप vpn के through किसी भी country के network को access कर सकते हैं.

VPN  के नुक़सानात  (Disadvantage of VPN)

लेकिन दोस्तों यहां नुकसान पर बहुत सारे हैं। सबसे पहली बात तो यह कि जो भी आपका इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर है, वह हो सकता है track करें कि आप किन  वेबसाइट पर जा रहे हैं।

क्या क्या visit कर रहे हैं क्योंकि उनको आप की IP ADDRESS पता है और उनको यह भी पता है कि आप किन-किन ip-address इसके लिए request भेज रहे हैं.

दोस्तों इसके अलावा ये भी हो सकता है जो आप government  है वो भी आप पर नजर रखे हुए हो. इसके अलावा मान लीजिए। अगर आप किसी open Wi-Fi network वगैरह पर है तो दोस्तों आपके ऊपर कई बार नजर रखी जा सकती है। आपका data cable चुराया जा सकता है।

हम बहुत ही खुश होते हैं कि हमारे पास में open mass network आ गया है। बड़े आराम से जो चाहे use कर सकता है. लेकिन दोस्तों ऐसा हो सकता है सामने से आप जो भी डाटा बाहर भेज रहे है।

कुछ cases में हो सकता है वो encrypted भी होगा लेकिन दोस्तों majority case में अगर वहां expert बैठा है वो एक तरह का hacker है तो आप ने जो भी request use क्या है वह उसे block कर सकता है और बाद में आपकी प्राइवेसी को आप से छीन सकते हैं.

इसके अलावा बहुत बार आपने देखा होगा कि internet में बहुत सारे content ऐसा होता है जो restricted होता है। किसी ख़ास country या region के लिए,  for example आप इंडिया में बैठ के कोई ऐसी वीडियो देखते हैं जो मान लीजिए सिर्फ united state ही में available है या सिर्फ Canada में available है।

या मान लीजिए इंडिया से बाहर कहीं है और आप youtube पर कोई ऐसा video search करते हैं जो सिर्फ India ही के लिए available कराई गई है. तो ऐसे में आप को message मिलता है के “this video is not available in your country”.

Banned Website कैसे Open करें

दोस्तों वो भी इसलिए होता है के हमारे server को पता चल जाता है कि आप किस जगह से वो request भेज रहे हैं। आपका ip address क्या है और उसके बाद वह आपको ब्लॉक कर देते हैं क्योंकि आप उस particular country में नहीं रहते।

तो दोस्तों यही वह जगह है जहां पर हमारे vpn काम में आता है और आप भी मदद से जो भी मैं ने आप को कमिया बताया है उन सभी को दूर कर पाते हैं।

तो दोस्तों आप vpn मतलब आप कुछ ऐसा समझये कि यहां पर आप है और कहीं दूर किसी देश में कहीं एक vpn server है और उसके बाद में एक बार जब server से connect कर जाते हैं तो आपके और उस server के बिच जो भी connection होता है, वह completely encrypted होता है न ही आप के isp को नहीं government को, कुछ भी पता चल पाता है कि आप क्या बात कर रहे हैं।

उसके बाद दोस्तों आप किसी भी website को आप खोलते हैं कोई service या कोई request भेजते हैं तो वो server आप की रिक्वेस्ट को उस वेबसाइट पर भेजता फिर आप उस website को access कर पाते हैं.

इसका मतलब ये है के अगर कोई आप के packet को misuse भी करेगा तो भी पता लगा नहीं सकता की यहाँ कुछ चीजे encrypted है आप अपने region से दूर किसी और region में किसी भी content को use कर सकते हैं.

कोई websites आप  के resign में block हो तो आप उसे use कर सकते हैं.  इस के अलावा  अगर कोई service है जो provider की तरफ से block की गई तो आप उसको भी आप use कर सकते हैं. और सब से बड़ी बात तो ये है के आप पूरा content securely use कर पाएंगे.

ऐसा नहीं हो सकता कि कोई नजर रखें। और बाद में आपके passwords को या important information को वहां से चुरा ले.

Vpn कहाँ से download करें

तो play store पे, app store पे, internet पर तरह-तरह की vpn service available है। बहुत सारे free है बहुत सारे paid हैं. Free में जो speed हैं वो थोड़ी सी कम हो जाती है और security के मामले में भी एक question mark बन जाता है।

क्या पता जो vpn server है कहीं वही तो आप का डाटा नहीं चुरा रहा है। और क्या पता वहां पर कितना secure है। ऐसा ना हो कि आप तो सोच रहे हैं के secure है लेकिन वहीँ से information leak हो जाये.

लेकिन अगर आप एक paid vpn service लेते हैं तो इसमें option है के हो सकता है उसमे आप को कुछ अच्छा मिलता है। monthly plans है data के हिसाब से plane है, अगर बहार travel कर रहे हैं, suppose आप china में travel कर रहे हैं तो चाइना में दोस्तों Facebook access नहीं कर सकते।

लेकिन आप के पास vpn server है अगर आपने वहां अपने vpn server में login क्या उस के बाद  जो भी request send करते हैं अपने android phone में या iPhone में या आप के किसी laptop वगैरह में तो वहां पे आप Facebook को देख सकते हैं.

Internet पर बहुत सारे vpn मौजूद है free है trial वाले है paid है ads वाले हैं premium है, आप अपनी समझदारी से choose कर सकते हैं और use करना बहुत ही आसान है, आप को अपने android phone के setting में जाकर वहां vpn का option है उसे चाहे तो manually configure कर सकते हैं और ये difficult पड़ जाता है.

आसान ये है के बस आप एक app install कीजिए और app अपने आप से सारे configure कर देगी. उसके बाद आप अपने internet को अपने freedom से खुलेआम अच्छे से जहाँ से चाहे जब से चाहे use कर सकते हैं.

लोग इसे भी पढ़ना  पसंद करते हैं :-

मुझे उम्मीद है दोस्तों आपको हमारा ये informative article (Vpn Full Form In Hindi) पसंद आया होगा और आप को समझ में आ गया होगा के vpn क्या होता है, vpn को full form क्या है, या vpn का benefit  क्या है, या vpn के नुकसान क्या है. इस article  को apne दोस्तों के साथ ज़रूर share करें, अगर आप कुछ पूछना चाहते हैं या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो comment section ज़रूर लिखे मै reply ज़रूर दूंगा. धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.