Insurance meaning in hindi – बीमा क्या है

Insurance meaning in Hindiबीमा क्या है

 

Insurance Meaning in Hindi – बीमा या बीमित व्यक्ति को भविष्य में किसी भी तरह के नुकसान की संभावना से निपटने का एक प्रभावी हथियार है। कोई नहीं जानता कि कल क्या होगा, तो आइए एक बीमा पॉलिसी के माध्यम से संभावित भविष्य के नुकसान को कवर करने का प्रयास करें। Insurance का मतलब जोखिम से सुरक्षा होता है.

इसी तरह अगर बीमा कंपनी ने किसी कार, घर या स्मार्टफोन का बीमा किया है तो उस चीज के टूटने, फूटने, खोने या क्षतिग्रस्त होने की स्थिति में बीमा कंपनी बीमा कराये हुये व्यक्ति को पहले से तय शर्त के हिसाब से मुआवजा देती है.

बीमा वास्तव में बीमा कंपनी और बीमाधारक के बीच एक अनुबंध है। इस अनुबंध के तहत, बीमा कंपनी बीमाधारक से एक निश्चित राशि (प्रीमियम) लेती है और पॉलिसी की शर्तों के अनुसार किसी भी नुकसान के मामले में बीमाधारक को क्षतिपूर्ति करती है।.

बीमा के प्रकार – बीमा (Insurance) कितने तरह का होता है?

बीमा मुखतः दो तरह का होता है: Insurance Meaning in Hindi

जीवन बीमा (Life Insurance)
साधारण बीमा (General Insurance)

General Insurance के तहत Home Insurance, Health Insurance, Travel Insurance, Crop Insurance, Business Liability Insurance और Motor Insurance आते है।

जीवन बीमा ( Life Insurance): 

जीवन बीमा में किसी इनसान की जिंदगी का बीमा किया जाता है.। जीवन बीमा ( Life Insurance) का मतलब यह है कि बीमा पॉलिसी खरीदने वाले व्यक्ति की मृत्यु होने पर बीमा मे दर्शाये गए नामिनी को बीमा कंपनी की ओर से मुआवजा दिया जाता है.

यदि बीमित व्यक्ति की अकस्मात मृत्यु हो जाती है तो उसके पत्नी/बच्चों/माता-पिता आदि को आर्थिक संकट से गुजरना पड़ता है इसके लिए परिवार को आर्थिक परेशानी से बचाने के लिए जीवन बीमा पॉलिसी लेना अति आवश्यक है। वित्तीय नियोजन में सबसे पहले व्यक्ति को जीवन बीमा पॉलिसी खरीदने का सुझाव दिया जाता है।

 

India first life insurance

Shriram insurance

future Generali life insurance

 

vle insurance

state automobile mutual insurance company

apex insurance

साधारण बीमा (General Insurance)

General Insurance या सामान्य बीमा वह बीमा होता जिसमे वाहन, घर, पशु, फसल, स्वास्थ्य आदि का बीमा किया जाता है।

Home Insurance: अगर आप अपने घर का बीमा किसी सामान्य बीमा कंपनी से करवाते हैं, तो इसमें आपका घर सुरक्षित रहता है। बीमा पॉलिसी खरीदने के बाद अगर आपके घर को किसी तरह का नुकसान होता है तो बीमा कंपनी हर्जाना देती है।

Home Insurance कराये हुये व्यक्ति के घर को अगर किसी भी तरह का नुकसान होता है तो ये बीमा उसको कवर करेगा. घर को प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान जैसे आग, भूकंप, आकाशीय बिजली, बाढ़ आदि और कृत्रिम आपदा जैसे घर में चोरी होना, आग लगना, लड़ाई-दंगे आदि की वजह से घर को हुआ नुकसान Home Insurance मे शामिल है.

स्वास्थ्य बीमा ( Health Insurance): आजकल इलाज का खर्चा बहुत तेजी से बढ़ रहा है। स्वास्थ्य बीमा लेने पर बीमा कंपनी बीमारी की स्थिति में इलाज का खर्च वहन करती है। स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के तहत बीमा कंपनी किसी भी तरह की बीमारी होने पर इलाज पर खर्च की गई राशि का भुगतान करती है। किसी भी बीमारी पर खर्च की सीमा आपकी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी पर निर्भर करती है।

यात्रा बीमा ( Travel Insurance): यात्रा बीमा यात्रा के दौरान होने वाले नुकसान को कवर करता है। अगर कोई व्यक्ति किसी काम या यात्रा के लिए विदेश जाता है और उसे चोट लग जाती है या सामान गुम हो जाता है तो बीमा कंपनी उसे मुआवजा देती है। यात्रा बीमा पॉलिसी आपकी यात्रा की शुरुआत से यात्रा के अंत तक वैध है। यात्रा बीमा पॉलिसियों के लिए अलग-अलग बीमा कंपनियों की अलग-अलग शर्तें हो सकती हैं।

jet airways travel insurance

bajaj allianz travel insurance review

air india travel insurance

goibibo travel insurance

Policy Bazaar PBPartners

फसल बीमा ( Crop Insurance): वर्तमान नियमों के अनुसार कृषि ऋण लेने वाले प्रत्येक किसान को फसल बीमा खरीदना आवश्यक है। फसल बीमा पॉलिसी के तहत फसल को कोई नुकसान होने पर बीमा कंपनी किसान को मुआवजा देती है। फसल बीमा पॉलिसी के तहत आग, बाढ़ या किसी बीमारी के कारण फसल खराब होने की स्थिति में बीमा कंपनी द्वारा मुआवजा दिया जाता है।

फसल बीमा पॉलिसी की सख्त शर्तें और लागत के हिसाब से मुआवजा नहीं मिलने से किसानों में फसल बीमा को लेकर ज्यादा उत्साह नहीं है। दरअसल, फसल खराब होने पर मुआवजा देने के लिए बीमा कंपनियां उस खेत के आसपास के सभी खेतों का सर्वे करती हैं और मुआवजा तभी दिया जाता है जब ज्यादातर किसानों की फसल खराब हो गई हो.

कारोबार उत्तरदायित्व बीमा (Business Liability Insurance):
Liability Insurance देयता बीमा वास्तव में किसी कंपनी या किसी उत्पाद के काम से ग्राहक को हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए है। ऐसे में देयता बीमा कंपनी को कंपनी पर जुर्माने और कानूनी कार्यवाही की पूरी लागत वहन करनी पड़ती है।

वाहन बीमा ( Motor Insurance): भारत में सड़क पर चलने वाले किसी भी वाहन का कानून के अनुसार बीमा कराना बेहद जरूरी है। यदि आप बिना बीमा के सड़क पर अपना वाहन चलाते हैं, तो यातायात पुलिस द्वारा आप पर जुर्माना लगाया जा सकता है। मोटर या वाहन बीमा पॉलिसी के अनुसार, बीमा कंपनी वाहन को हुए किसी भी नुकसान के लिए मुआवजा देती है। अगर आपका वाहन चोरी हो गया है या कोई दुर्घटना हो गई है, तो वाहन बीमा पॉलिसी आपकी बहुत मदद कर सकती है।

वाहन बीमा पॉलिसी का सबसे अधिक लाभ आपको तब मिलता है जब आपके वाहन से किसी व्यक्ति को चोट या मृत्यु हुई हो। यह थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के तहत कवर होता है। अगर आपके पास भी टू व्हीलर/थ्री व्हीलर या कार है तो उसका बीमा जरूर कराएं।

digit insurance

shriram general insurance

go digit general insurance ltd

future generali car insurance

acko mobile insurance

tata aig bike insurance

hdfc ergo two wheeler insurance

magma hdi general insurance

universal sompo general insurance

liberty general insurance

chola insurance

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Insurance meaning in hindi