ब्लॉग से पैसे कैसे कमाएँ? Blog Se Paise Kaise Kamaye (Step By Step Guide)

Hello दोस्तों! हमारे इस इस ब्लॉग Mumtaz Tech में आपका स्वागत है. आज हम आप के लिए बहुत अहम और informative article ले कर आया हु. इस में मै आप को बताऊंगा के “ब्लॉग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाएं”.

आजकल Blogging के महत्व को कौन नहीं जानता है? हर 6 महीने में लगभग 25 Million की बढ़ोतरी के साथ, दुनिया भर में Blogs की संख्या 350 मिलियन से अधिक हो गई है। बहुत से कंपनियों और संगठनों के कर्मचारी दैनिक आधार पर अपने संगठनों के लिए ब्लॉग लिखते हैं।

blogging कई लोगों के लिए माहाना आमदनी का ज़रिया भी है। जिस से उसके घर का खर्चा चलता है घर का चूल्हा जलता है. Blogging के माध्यम से, कई बड़ी कंपनियां Advertising अभियान चलाती हैं और अपनी कंपनी के लिए ब्लॉग लिखते हैं। बहरहाल Blogging, Marketing का एक Important और बुनयादी ज़रिया है।

ब्लॉग क्या है

ब्लॉग शब्द English के “Web” और “Log” शब्दों का एक संयोजन है। एक ब्लॉग एक Writing है जो Web Wide World (डिजिटल मीडिया / इलेक्ट्रॉनिक पेज) पर Publish होता है।

सीधे शब्दों में कहें, तो आप इसे एक Digital Diary कह सकते हैं जहाँ आप लाखों लोगों के साथ अपने point of view, Experience और टिप्पणियों को साझा कर सकते हैं। सामाजिक मुद्दों, राजनीति, शिक्षा, खेल, फैशन और कई अन्य मुद्दों पर टिप्पणी कर सकते हैं।

जहां आप लिखने के लिए किसी संगठन या वेबसाइट की Policies से पाबंद नहीं हैं। आपका Writing सार्वजनिक है और लोग पढ़ते हैं, टिप्पणी करते हैं और आलोचना करते हैं।

कैसे लिखना है नियमों और विनियमों:

ब्लॉग लिखने की तरीक़ा आमतौर पर एक Article लिखने के समान होती है। अंतर यह है कि आप ब्लॉग में Article के लिए बाध्य नहीं हैं, ब्लॉग एक साथ कई विषयों पर चर्चा कर सकता है।

Article में आमतौर पर Language की गंभीरता और उसकी मेयार को ध्यान में रखता है, जबकि ब्लॉग पर आज़ादी होती है की कुछ भी लिखा जा सकता है।

ब्लॉग लिखते समय, Writing के उद्देश्य को ध्यान में रखें, यह सोचकर कि आपका Article सभी स्वभाव और विचारों के लोगों द्वारा पढ़ा जाएगा। जरूरी नहीं कि वे आपसे सहमत हों।

Topic का Selection

ब्लॉग लिखने के लिए पहला Topic चुनें। Topic ढूंढना कोई मुश्किल काम नहीं है। चारों ओर एक नज़र डालें और आप कई कहानियों को आगे बढ़ते देखें गे।

कभी-कभी एक बूढ़े पिता को Financial Problem के शिकार के रूप में देखा जाएगा और कभी-कभी एक पीड़ित बच्चे को अपने माता-पिता के स्नेह से वंचित देखा जाएगा। कोई देश की स्थिति और राजनीति पर टिप्पणी करता नजर आएगा, तो कोई महंगाई और भ्रष्टाचार पर रोता हुआ दिखाई देगा।

कहीं कोई खुशियां बांटता नजर आएगा, तो कहीं कोई Social Media पर Busy दिखाई देगा। यदि आपके पास एक गहरी आंख और एक सोच वाला दिमाग है, तो आप अपने आस-पास ऐसे कई विषय पाएंगे, जिन्हें पहले चुनना मुश्किल होगा। किसी Topic को चुनने के बाद Writing का चरण आता है।

किसी भी Article में तीन भाग होते हैं।

1। परिचय (Introduction)

2। विषय ( Main Topic)

3। समापन (Ending)

परिचय : (Introduction)

Introduction Section, Article या ब्लॉग First Paragraph को कहा जाता है। एक Paragraph में कम से कम पाँच से सात Line होनी चाहिए। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि लेख की शुरुआत Unique हो। यह वही है जो पढ़ने वाले को पूरे पाठ को पढ़ने के लिए मजबूर करता है।

Article शुरू करने के कुछ सामान्य तरीके यहां दिए गए हैं:

1। एक कहानी से

2। किसी भी खबर से

3। किसी मुहावरे या कहावत से

4। सरल तरीके से

बिच के paragraph (Main Topic)

लेख का मुख्य विचार आमतौर पर तीन से चार उद्धरण हैं। मुख्य विचार लेखन के उद्देश्य को ज़ाहिर करना है। यह लेखन का main और महत्वपूर्ण हिस्सा है। जानकारी प्रदान करना, समस्या के साथ-साथ उनकी रोकथाम पर प्रकाश डालना भी लेख के मुख्य विचार में लिखा गया है।

समापन: Ending

यह आर्टिकल का अंतिम हिस्सा है जिसमें Article का निचोड़ या अंतिम अक्षर आमतौर पर लिखा जाता है। Article की Introduction की तरह, इसका अंत प्रभावी और Unique होना चाहिए जो Reader को किसी न किसी नतीजे पर पहुंचने में मदद करेगा।

जब भी आप किसी वेबसाइट के लिए ब्लॉग लिखते हैं, तो उस वेबसाइट की थीम यानि main मकसद को ध्यान में रखें। यानी अगर वेबसाइट फैशन और शोबिज के लिए है तो उसी के अनुसार ब्लॉग लिखें।

इसी तरह, यदि वेबसाइट Education के बारे में है, तो इसके लिए Acadmic ब्लॉग लिखे जाएंगे, अगर यह science और technology के बारे में है, तो ब्लॉग भी इस विषय पर होंगे। तो इससे पहले कि आप किसी वेबसाइट के लिए ब्लॉग लिखना शुरू करें, उस वेबसाइट पर ब्लॉग पढ़ना ज़रूरी है।

ब्लॉग लिखते समय, शब्दों की संख्या को ध्यान में रखें, आज का सबसे व्यस्त युग Nino Fiction और Microfiction है।

लोग सबसे लंबे Article को पढ़ने से डरते हैं। इसलिए, छोटे शब्दों में एक unique और informative article लिखें जो reader को अंत तक interset बढ़ाये रखेगा।

एक ब्लॉग 1000 और 1200 शब्दों के बीच होना चाहिए (जैसे-जैसे समय बढ़ता है, यह सीमा कम होती जा रही है। हमारी राय में, एक ब्लॉग की लंबाई 400 और 800 शब्दों के बीच है)।

Article का शुरुआती paragraph इतना शानदार और interesting हो के reader पूरे article को पढ़ने पर मजबूर हो जाये। एक paragraph का दूसरे paragraph से रबत होना चाहिए। Spelling, grammar, language पर विशेष ध्यान दें।

कुछ words की गलतियाँ अच्छे अच्छे article को खराब कर देता हैं। लिखने के बाद पाठ को संपादित करना सुनिश्चित करें। पाठ को कम से कम दो से तीन बार ध्यान से पढ़ें।

ब्लॉगिंग के फायदे और नुकसान

एक ब्लॉग आपकी ज़ाती डायरी के साथ एक सार्वजनिक लेखन भी है, जिसे लोग पढ़ते हैं, उससे प्रभावित होते हैं और कभी-कभी अपनी दिनचर्या में शामिल करते हैं।

एक अखबार में एक लेख लिखने और एक ब्लॉग लिखने के बीच एक महत्वपूर्ण अंतर यह है कि ब्लॉग पर तत्काल प्रतिक्रिया होती है।

आपकी राय जनता तक पहुँचती है और जनता की राय सीधे आप तक पहुंचती है। चूंकि आपका लेखन सीधे पाठकों द्वारा पढ़ा जाता है और अक्सर सेंसरशिप के माध्यम से उन तक नहीं पहुंचता है, इसलिए एक लेखक के रूप में आपके लेखन के माध्यम से सकारात्मक सोच को बढ़ावा देने की जिम्मेदारी है।

जनता की भलाई के लिए लिखें, दोहराए जाने वाले उत्तेजक सामग्री, संप्रदायवाद, नस्लीय और भाषाई नाराजगी से बचें।

दोस्तों! उम्मीद है के आप हमारा ये article “ब्लॉग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाएं” आप को पसंद आएगा।

आप इस article से blog क्या होता है और आप उस से पैसे कैसे कमा सकते है detail में समझ सकते है. और अगर आप के ब्लॉग पर traffic अच्छी खासी आना शुरू हो गया तो आप उस में google adsense का ad लगा कर पैसे कमा सकते है.

दोस्तों फिर किसी और informative article के साथ आप मुलाकात होगी तब तक के लिए Jai Hind.

 

1 thought on “ब्लॉग से पैसे कैसे कमाएँ? Blog Se Paise Kaise Kamaye (Step By Step Guide)”

  1. Pingback: Best Tips - Guest Posting Se Kaise Kama Sakte Hai - Mumtaz Tech

Leave a Reply

Your email address will not be published.